चेतना का विकास ही समस्त कल्याण की आधारशिला है

चेतना का विकास ही समस्त कल्याण की आधारशिला है

चेतना का विकास ही समस्त कल्याण की आधारशिला है   मनुष्य जाति का सारा उत्थान चेतना के  विकास का परिणाम है, जो भी भौतिक, सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक प्रगति मनुष्य ने हजारों वर्षों मे की है वो सिर्फ हमारी चेतना के विकास से संभव हुआ है I मनुष्यों और पशुओं मे भी यह फर्क इसलिए है क्यूंकि मनुष्य ने अपनी रीढ़ को सीधा रखकर दो पैरों पर चलना सीखा और यह संभव हुआ उसकी चेतना के विकसित होने की वजह से, और मनुष्यों मे ही यह सम्भावना प्रकट हुई है पशुओं मे नहीं I मनुष्य का विकास उसकी चेतना के विकास[…]

Read more