क्या इस्लाम वाकई खतरे में है?

क्या इस्लाम वाकई खतरे में है? Quora पर किसी प्रबुद्ध पाठक ने यह प्रश्न किया है जी हाँ इस्लाम बहुत खतरे मे है, उन लोगो की वजह से नहीं जो इस्लाम के अनुयायी नहीं हैं, वरन उन लोगो की वजह से जो इस्लाम के नाम पर सारी धरती को नरक बनाये हुए हैं। यही लोग इस्लाम के वास्तविक दुश्मन हैं और रहेंगे सदा। पिछले 1400 साल से, जिन्होंने मुहम्मद साहब का जीवन भर विरोध किया, उन्हें अपने ही जन्मस्थान से बरसों तक दूर रहने पर मजबूर किया और उनके परिवार का क़त्ल किया, और इस्लाम को दुनिया मे एक भद्दी[…]

Read more

युवाओं के शिक्षित होने के बावजूद बेरोजगारी क्यों है?

युवाओं के शिक्षित होने के बावजूद बेरोजगारी क्यों है? Quora पर मेरे एक पाठक ने यह प्रश्न पूछा है शिक्षा दर में बढोतरी के बावजूद महिलाओं में नौकरी की ललक कम क्यों है? यहाँ इस प्रश्न का उत्तर समस्त तथाकथित शिक्षित युवाओं को ध्यान मे रखकर दिया गया है, शिक्षित होना और विभिन्न कार्यों के लिए उचित कुशलता, अनुभव और आत्मविश्वास का होना बिल्कुल अलग बात है, हमारे अधिकांशतः तथाकथित शिक्षित व डिग्री धारी युवक युवतियों में व्यावहारिक व व्यावसायिक कुशलता और अनुभव का पूर्णतया अभाव होता है। यह हमारे देश में बेरोजगारी और सारे उपद्रव और असंतोष की वजह है, लोग कुशलता[…]

Read more

विकसित राष्ट्र क्रिकेट में कोई रुचि क्यों नहीं रखते?

विकसित राष्ट्र क्रिकेट में कोई रुचि क्यों नहीं रखते? Quora पर मेरे पाठक ने यह प्रश्न पूछा था  कि इतने सारे पैसे से जुड़ने के बावजूद, चीन, रूस, फ्रान्स, जर्मनी और जापान के लोग क्रिकेट में कोई रुचि क्यों नहीं रखते? क्या इनमें से कोई क्रिकेट में, विश्व में सर्वश्रेष्ठ बन सकता है? क्रिकेट अधिकांशतः सिर्फ ब्रिटेन के द्वारा शासित देशों में खेला जाता है, जिन्हें अंग्रेजों ने गुलाम बनाया और अपने उपनिवेशों कि तरह अपनी हुकूमत के तले रखा, कोई भी ज्यादा रचनात्मक रुचि रखनेवाले राष्ट्र इस बेहूदे खेल में रुचि नहीं रखते, क्यूंकि यह समय और संसाधनों की[…]

Read more

वात्स्यायन द्वारा ‘कामसूत्र’ ग्रंथ क्यों लिखा गया था?

इस बारे में तो वात्स्यायन ही बता सकते हैं कि उन्हें कामसूत्र लिखने की प्रेरणा और आवश्यकता क्यों महसूस हुई थी, इतना जरूर कहूंगा उन्होंने मानव जाति को इस परम शक्तिशाली काम उर्जा के उचित नियोजन और इसके सही क्रियान्वयन की वैज्ञानिक और व्यवस्थित विधियाँ और जानकारी इस ग्रन्थ मे सम्पादित कर मनुष्य जाति को यह अनुपम भेंट प्रदान की है। काम को हमारी संस्कृति में मनुष्य जीवन के चार परम पुरुषार्थ धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष मे से एक निश्चित किया गया है। काम को नियमित और सही तरीके से नियोजित किये बिना जीवन को संपुष्ट, सुरुचिपूर्ण और कल्याणकारी रूप[…]

Read more

क्या हमारे घरों में बेटी और बहू को समान समझा जाता है?

क्या हमारे घरों में बेटी और बहू को समान समझा जाता है? हमारे घर में हमारी प्यारी बहन को बहुत प्यार और अच्छी शिक्षा दी गई और वो जिस घर में गई उसे बेहद प्यार और सम्मान मिला है, वो बेहद समझदार, मेहनती और कुशल बेटी, पत्नी, गृहणी, और मां है। हमारी मां ने उसे और हम सभी को सभी बातों और काम की बेहतर शिक्षा दी और हमारी मां और बहन दोनों सुपर वुमन है, मैंने उनकी तरह काम करते बहुत कम महिलाओं को देखा है। हम लोगो को उनके हाथ से काम छीनना पड़ता है और कहना पड़ता[…]

Read more

हिन्दू धर्म को श्रेष्ठ वैज्ञानिक धर्म क्यों माना जाता है?

हिन्दू धर्म को श्रेष्ठ वैज्ञानिक धर्म क्यों माना जाता है? मुझे पता नहीं कि हिन्दू धर्म के संबंध में लोगो की अवधारणा या सोच क्या है, लोग क्या जानते है, क्या समझते है, और क्या देखते है, और उसका आधार क्या है? जहां तक मेरी अपनी समझ और दृष्टि है अपने देश की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत के बारे में हमारे अवतारों, सिद्ध महामानवों, और मुक्त पुरुषों की दृष्टि, अभिव्यक्तियों और अनुभव की रोशनी में जिसका कुछ अंश यहां प्रस्तुत कर रहा हूं, आप इस संबंध में खोज कर सकते है और सत्य जान सकते हैं। यह धरती और यहां[…]

Read more